13 साल की उम्र में खड़ी कर दी करोड़ों की कंपनी! Tilak Mehta Biography in Hindi

क्या आप एक सफल बिजनैस मैन बनना चाहते हैं लेकिन आपकी उम्र इसमे बाधा बन रही है। तो आप अपनी उम्र को लेकर बिल्कुल बेफिक्र हो जाइए। क्योंकि आज हम आपको एक ऐसे लड़के की कहानी बताने जा रहे हैं जिसने मात्र 13 साल की उम्र में ही करोड़ो की कंपनी खड़ी कर दी। जी हां दोस्तों हो गए ना हैरान। ये कहानी है मुंबई के रहने वाले 13 साल के तिलक मेहता की। Tilak Mehta Biography आप सभी के लिए भी प्रेरणादायक हो सकती है।

ये कहानी है 8वीं में पढ़ने वाले तिलक मेहता की जो हर रोज अपने पिता को काम से थक हारकर घर आते हुए देखता था और उसे यह बात परेशान कर देती थी कि वो अपने पिता की कोई मदद नहीं कर पा रहा है। बस फिर क्या था उसने अपने पिता की सहायता करने की ठान ली और एक स्टार्टअप पेपर्स एंड पार्सल्स (पीएनपी) नाम से लॉजिस्टिक्स (Logistic Business) कंपनी खोल दी।

कैसे तिलक को आया आइडिया।

तिलक ने एक साक्षात्कार में बताया कि ‘कई बार मुझे किताबों की जरूरत पड़ती थी तो पिताजी को दिनभर के कामों से थके देखकर उन्हें कहने की हिम्मत नहीं जुटा पाता था। यहीं से यह आइडिया आया कि मुंबई शहर के अंदर 24 घंटे में छोटे पार्सल कैसे पहुंचाएं जाएं। बस फिर क्या था उसने ये आइडिया अपने पहचान के एक बैंक अधिकारी घनश्याम पारेख को बताया तो उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी और तिलक के साथ ही जुड़ गए और कंपनी में मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के तौर पर काम करने लगे। पार्सल को भेजने के लिए तिलक ने मुंबई के डिब्बावालों की मदद ली।

यह भी पढ़ें –

कैसे काम करती है पीएनपी?

Tilak Mehta की कंपनी पीएनपी अपना काम एक मोबाइल एप्लिकेशन के जरिए करती है। इस कंपनी में फिलहाल 200 कर्मचारी काम कर रहे हैं साथ ही 300 से ज्यादा डिब्बावाले भी जुड़े हुए हैं। डिब्बावालों की मदद से कंपनी हर होज 1200 से ज्यादा पार्सल डिलीवर कर रही है। पीएनपी अभी केवल 3 किलो तक के ही पार्सल स्वीकार कर रही है जिसका शुल्क 40 से 180 रुपये तक होता है।

क्या है तिलक का लक्ष्य ?

पीएनपी की सेवाएं ज्यादातर पैथोलॉजी लैब्स, बुटीक शॉप्स और ब्रोकरेज कंपनी जैसे ग्राहक ले रहे हैं। अब तिलक मेहता का लक्ष्य साल 2020 तक कंपनी 100 करोड़ का राजस्व सालाना कमा ले। साथ ही लॉजिस्टिक्स के बाजार में उनकी हिस्सेदारी बढ़कर 20 फीसदी हो सकती है।

तो दोस्तों आपने देखा कि किस तरह एक 13 साल के लड़के ने अपनी परेशानी के हल निकालने के लिए अपनी ही एक कंपनी खड़ी कर दी और दूसरों के लिए एक मिसाल कायम कर दी जो अपनी उम्र का बहाना बनाकर कुछ नही कर पाते। इसीलिए दोस्तों आप भी अपने आस पास की दुनियां में हो रही परेशानियों को हल करने के लिए अपनी भी कंपनी खोल सकते हैं। और एक सफल बिजनिस मैन बन सकते हैं। चाहे आपकी उम्र 13 साल हो या 63 साल।

हम आपके लिए ऐसी ही बहुत सी प्रेरणादायक कहानियां लाते रहेंगे। अगर आपके आसपास भी कोई ऐसी कहानी हो तो हमे जरूर बताएं।

जय हिंद जय भारत।

हमारे लोकप्रिय लेख :

सम्बंधित पोस्ट