ओटीसी फुल फॉर्म | OTC Full form in Hindi

नमस्कार दोस्तों ! आज की पोस्ट में हम आपको स्वास्थ्य से जुडी एक ऐसी जानकारी देने जा रहे हैं जो आप सबके लिए बहुत जरुरी है | आज की पोस्ट में आपको यह जानकारी हो जायगी कि बिना डॉक्टर की सलाह के दवाई लेना क्या होता है | उसके क्या प्रभाव हो सकते हैं |  आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि कि OTC Kya Hota Hai | OTC Full Form | OTC दवाई कौनसी होती हैं, आदि । अगर आप स्वास्थ्य के प्रति थोडा भी जागरूक है तो आपको आज की पोस्ट जरुर पढनी चाहिए |

इस जानकारी को आपको अपने दोस्तों के साथ भी जरुर शेयर करना चाहिए क्योंकि ऐसी जानकारी हर किसी को होनी चाहिए | अगर आपने  OTC के मामले में ज़रा भी लापरवाही की तो आपकी सेहत और भी ख़राब हो सकती है |

OTC Full Form

यह भी पढ़ें  : 

OTC Full Form | OTC Ka Full Form | Full Form of OTC

आपको बता दे की OTC अंग्रेजी के तीन शब्दों की एक शोर्ट फॉर्म है | जिनके मतलब अलग अलग होते हैं | जो इस प्रकार  है –

  • O- OVER
  • T- THE
  • C- COUNTER

अब तीनो शब्दों को मिलाकर देखें तो OTC की फुल फॉर्म होती है “OVER THE COUNTER

OTC का मतलब क्या होता है | OTC Kya Hai | OTC Drug Means

OTC का मतलब होता है की बिना पर्ची, या बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के दवाई केमिस्ट से लेना । ऐसी दवाई जो हम बिना डॉक्टर को दिखाए केमिस्ट से ले लेते है | जैसे – सरदर्द, बुख़ार, सर्दी जूखाम की दवाई ले लेते है ।

फॉर एग्ज़ेंपल- मान लो की आपको बुख़ार हो जाता है, आप डॉक्टर के पास ना जाकर केमिस्ट के पास जाते हो और बोलते हो की मुझे बुख़ार आरा है और मुझे बुख़ार की दवाई देदो। तो वो आपको पारासिटामोल की दवाई दे देता है । इसे ही OVER THE COUNTER दवाई लेना कहते हैं |

OTC या बिना पर्चे वाली दवाई कौन कौन सी हैं?

ऐसी दवाई जो आप बिना डॉक्टर के निगरानी में खाते है यह सामान्य बीमारियों के लिए होती हैं । जैसे-

• पारासिटामोल
• वीक्क्स
• ओइन्ट मेंट
• बेटाडिन
• आयोडेक्स
• आई बुफ्रीन
• मल्टी विटामिन्स की टब्लेट्स आदि

इन सबको आप बिना डॉक्टर को दिखाए केमिस्ट से बिना पर्ची दिखाए ले लेते हो ।

इनके सईड इफ्फेक्ट्स क्या होते हैं | OTC Side Effects

वैसे अगर आप इनको कम मात्रा मे लेते हो तो इतना नुकसान नही देता पर, अगर आप इनका जरूरत से ज्यादा इनका सेवन कर लेते हो तो, इसका बहुत नुकसान आपको भूकतना पड़ सकता हैं । इसलिए आपको इनको जितना हो सके कम ही लेना चाहिय़े।

कभी कभी य़े दवाईयाँ हर किसी को सूट नही करती तो इनका व्येक्ति पर उल्टा रिक्शन हो जाता हैं । जैसे किसी को कुछ दवाईयों से ऐलरजी हो जाती हैं ।
किसी को सास लेने में तकलीफ हो जाती हैं, किसी को उल्टी , खुजली।

इन दवाइयों को जब आप खुद से लेते हो तो इसके पूरे जिम्मेवार सिर्फ और सिर्फ आप होते हो, और कोई दूसरा नही क्युकि य़े आपने किसी डॉक्टर से पूछ कर नही ली हैं । य़े आपने अपने जिम्मेवारी पे ली हैं , इसे खाने के बाद अगर आपको कुछ भी उल्टा रिक्शन होता हैं तो इसके जिम्मेवार आप ही होंग़े।

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको स्वास्थ्य से सम्बंधित एक और महत्वपूर्ण जानकारी शेयर की है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि OTC क्या होता है, OTC Ful Form, OTC दवाई कौनसी होती हैं आदि । 

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

सम्बंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *