हमारे जीवन में बहुत सारी चीजें बहुत महत्वपूर्ण होती  हैं | जिनमें से नौकरी और शादी भी बहुत  जरुरी है | लेकिन जब हम अपनी पढ़ाई पूरी करकर नौकरी के लिए जाते हैं तो हमें बायोडाटा या रिज्यूमे की जरुरत पढ़ती है | ऐसे ही जब हम शादी के लिए लड़का या लड़की देखते हैं तो वहां भी बायोडाटा की आवश्यकता होती है | इसीलिए बायोडाटा या रिज्यूमे हमारे जीवन में बहुत काम आता है | एक अच्छा बायोडाटा बन जाए तो यह दोनों काम आसान हो सकते हैं | इसीलिए हमने बायोडाटा (Biodata) की केटेगरी बनाई है | जिसमें हम आपको बतायंगे की बायोडाटा क्या होता है | Resume क्या होता है | Curriculum Vitae क्या होता है | आप एक अच्छा बायोडाटा (Biodata) या रिज्यूमे कैसे बना सकते हैं | साथ ही हम आपको बुत सारे फ्री बायोडाटा के फोर्मेट भी उपलब्ध करवायंगे |

बॉयोडाटा किसे कहते हैं | Bio-Data full Form | Biodata Meaning

दोस्तों सबसे पहले आपको बता दें कि BioData दो शब्दों से मिलकर बना हुआ एक शब्द है | जिसमें Bio का पूरा मतलब होता है Biographical. जिसे हिंदी में जीवनी कहा जाता है |  और दूसरा शब्द है Data जिसका मतलब होता है जानकारियों का संग्रह या विवरण | इस प्रकार Biodata का मतलब होता है किसी के जीवन से संबंधित विशेष जानकारियों का संकलन, संग्रह या विवरण |

भारत में बॉयोडाटा का इस्तेमाल शादी – विवाह से पहले अपनी निजी जानकारी देने के लिए किया जाता रहा है | जिसमें मैरिटल स्टेटस, जन्म तिथि , धर्म, जेंडर का जिक्र किया जाता है | 

बायोडाटा का इस्तेंमल जॉब के लिए तब किया जाता है जब कोई व्यक्ति सरकारी या निजी नौकरी के लिए आवेदन कर रहे होते हैं. यहाँ व्यक्ति की पर्सनल इंफोर्मेशन जैसे धर्म, उम्र, जेंडर की जानकारी देना जरूरी नहीं होती. इस प्रकार के बायोडाटा को हम आजकल Resume भी कहते हैं |

रिज्यूमे

Resume भी एक प्रकार का बायोडाटा ही होता है | इसमें आपको शैक्षिक और पर्सनल जानकारी संक्षिप्त में लिखी जाती है | जब आप किसी नौकरी के लिए अपना रिज्यूमे देते हैं तो इसे सरसरी निगाह से देखा जाता है | इसलिए रिज्यूमे को शॉर्ट में लिखा जाता है और केवल उसी इंफोर्मेशन की जानकारी दी जाती है जो जो बेहद जरूरी होती है. एक रिज्यूमे जितनी अच्छी तरह लिखा जाता है उतनी ही आपकी नौकरी लगने के चांस बढ़ जाते हैं |

वहीं सीवी को आपके इंटरव्यू के दौरान देखा जाता है. इसलिए रिज्यूमे की शुरू में ही अपने स्किल्स के साथ-साथ अपने क्षेत्र से जुड़ी स्पेशलाइजेशन का भी जिक्र करें. इससे रिक्रूटर को पता चलेगा कि आपका इंडस्ट्री में कितना अनुभव है.

सीवी (Curriculum Vitae):

Curriculum Vitae भी बायोडाटा और रिज्यूमे की तरह एक फोर्मेट होता है | इसे शोर्ट फॉर्म में CV कहते हैं |  Curriculum Vitae  लैटिन भाषा का एक शब्द है जिसका अर्थ होता है “कोर्स ऑफ लाइफ”. CV में रिज्यूमे से ज्यादा जानकारी डिटेल में दी जाती है .  और यह अक्सर 2 से 3 पेज का बनाया जाता है.

CV में आपकी अब तक कि पूरी जानकारी, स्किल्स की लिस्ट, सभी जॉब्स के अनुभव और पॉजिशंस, शैक्षिक डिग्रीयां, प्रोफेशनल डिग्री अदि का जिक्र डिटेल में होता है. इसमें आप अपने जॉब से सम्बंधित अन्य जानकारियां भी लिख सकते हैं जो आपने अपने अनुभव से सफलतापूर्वक प्राप्त की है.