BCG क्या होता है | BCG Full Form

नमस्कार दोस्तों ! ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फुल फॉर्म पोर्टल में आपका स्वागत है | आज हम आपके लिए एक बीमारी से बचाने वाले BCG टीके की जानकारी लेकर आये हैं| जो लोग मेडिकल फिल्ड से जुड़े हैं उन्होंने तो BCG के बारे में पता होगा | लेकिन नए लोग इसके बारे सुनते उअर पढ़ते तो हैं लेकिन इसके बारे में अधिक नहीं जानते | इसीलिए हमने सोचा क्यों ना आज इसके बारे में आपको बताया जाए | तो आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि BCG क्या होता है | BCG Full Form in Hndi | BCG के टीके को कैसे लेते हैं | BCG का इतिहास | BCG कब दिया जाता हैं, BCG का डोज़ | BCG से होने वाले दुष्प्रभाव, आदि |

bcg full form

BCG Full Form | BCG Ka Full Form

दोस्तों BCG अंग्रेजी के तीन शब्दों से मिलकर बना एक शोर्ट फॉर्म है | जिसमें तीनों शब्दों के अर्थ निम्नलिखित है :

B- Bacillus
C- Calmette
G- Guerin

इस प्रकार तीनो शब्दों को मिलाकर देखें तो BCG का मतलब या फुल फॉर्म होता है “Bacillus Calmette-Guerin” (बैसिलस कैलमेट-गुएरिन ) |

BCG क्या हैं? BCG Meaning in Hindi

BCG एक टीकाकरण या वेक्सीन हैं, जिसको लगाने से हमें टीबी के बीमारी से 20 साल तक सुरक्षा प्रदान करता हैं । य़े पूरी तरह से हमको टीबी से 100% सुरक्षा प्रदान नही करता । पर उसके होने वाले संक्रमण से हमारे फेफड़ो को सुरक्षित करता हैं । तभी जब नवजात शिशु जन्म लेता हैं तो उसके जन्म के समय इस टीके को शिशु पर लगाया जाता हैं ।

BCG के टीके को किस तरीके से लिया जाता हैं?

CG का टीका इंजेक्शन के द्वारा दिया जाता हैं । क्यूंकि इंजेक्शन ज्यादा असरदार होता हैं बजाय कोई भी गोली के । BCG का टीका लगने के बाद य़े हमारे उन अंगो पर प्रभावित करता हैं जहाँ टीबी होने का कारण बनता हैं टीबी के बैक्टीरिया का नाम माइक्रोबैक्टेरियम ट्यूबरकुलीन हैं जिसके कारण हमें टीबी हो जाता हैं ।

BCG टीके की खोज कब हुई?

BCG टीके को तैयार 1908 से 1921 तक में करी गयी थी ।इस टीके को फ्रांस के बैक्टीरियोलोजिस्ट एडबर्ट कैलमिटी व कैमिली ग्युरिन ने मिलकर तैयार किया था ।
इस टीके का नाम भी इन दोनों बैक्टीरियोलोजिस्ट के नाम पर ही रखा गया था।

BCG का टीका कब लगता हैं?

BCG का टीकाकरण शिशु के तुरंत बाद ही दे दिया जाता हैं । य़े टीबी से लड़ने के लिए बच्चें के प्रतिरोधक क्षमता को बढाता हैं ।

BCG का डोज़ वा मात्रा? BCG  Vaccine Dose

BCG की डोज़, नवजात शिशु में इसकी मात्रा 0.05ml देते हैं । और अगर जन्म के समय BCG का टीका अगर ना लगा हो और या छूट गया हो तो अगले महीने भी इसको लगा सकते हैं पर इसकी डोज़ 0.1ml हो जाएगी ।

BCG से होने वाले दुष्प्रभाव या साइड एफेक्ट?

इंजेक्शन कोई भी हो अगर उनके बहुत फायदे भी हैं तो उनके थोड़े बहुत नुकसान या फिर य़े केह ले की साइड एफेक्ट भी होंग़े वैसे ही इसके भी हैं जैसे-

  • सिरदर्द होना ।
  • टीकाकरण वाली जगह पे सूजन होना ।
  • दर्द होने के वजह से चिड़चिड़ापन होना ।
  • पेट में भारीपन होना ।
  • अधिक थकान लगना ।
  • भूख ना लगना या खाने का स्वाद ना लगना । आदि य़े सब हो सकते हैं ।

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको मेडिकल फिल्ड से सम्बंधित एक महत्वपूर्ण जानकारी दी है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि BCG क्या हैं | BCG Full Form in Hindi | BCG के टीके को कैसे लेते हैं | BCG का इतिहास | BCG कब दिया जाता हैं, BCG का डोज़ | BCG से होने वाले दुष्प्रभाव, आदि |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

स्पेशल लिंक

होम जॉब्सऑनलाइन जॉब्सकैरियर विकल्प
फुल फॉर्मपैसे कमाने वाले एपबेस्ट टिप्स
शिक्षा पोर्टलडेली जॉब्सजॉब अलर्ट एप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *