डीआरडीओ क्या है | DRDO Full Form

नमस्कार दोस्तों ! आज की पोस्ट में हम आपको अपने देश के एक महत्वपूर्ण संगठन DRDO (डीआरडीओ) के बारे में बताने जा रहे हैं | वैसे तो आपने इसके बारे में कई बार न्यूज़, टीवी, अखबार आदि में जरुर सुना औरपढ़ा होगा | लेकिन DRDO क्या है और क्या करता है इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं होगी |  इसीलिए हमने सोचा क्योना आज आपको इसकी पूरी जानकारी दी जाये | आज की पोस्ट में हम जानेंगे कि DRDO क्या है | DRDO Full From (DRDO ka full form )| DRDO की स्थापना | DRDO का उद्देश्य | DRDO के कार्य,  आदि |

DRDO Full Form

DRDO Full Form | DRDO Meaning in Hindi

दोस्तों जैसा कि आप देख रहे हैं की DRDO अंग्रेजी के चार अक्षरों से मिलकर बना है | जिसमें सभी अक्षरों के मतलब अलग अलग होते हैं, जो इस प्रकार है :

  • D – Defence
  • R – Research
  • D – Development
  • O – Organisation

इस प्रकार सभी अक्षरों को मिलकर देखें तो DRDO का मतलब या फुल फॉर्म होती है “Defence Research and Development Organisation”  (डिफेंस रिसर्च एण्ड डेवलपमेंट ऑर्गैनाइज़ेशन)  | और हिन्दी में DRDO का मतलब होता है “रक्षा अनुसंधान विकास संगठन

DRDO की स्थापना | DRDO का उद्देश्य

अब हम जानते हैं की DRDO डी आर डी ओ की स्थापना कब हुई तो हम आप को बता दे DRDO डीआरडीओ की स्थापना सन 1958 में भारत की सैन्य शक्ति को मजबूत बनाने के लिए की गई थी और तभी से भारत की सैन्य शक्ति और भी अधिक शक्तिशाली हो गई और तब इसको भारतीय थल सेना और रक्षा विज्ञान संस्थान तकनीकी विज्ञान के रूप में स्थापित किया गया था। डीआरडीओ रक्षा मंत्रालय के अंडर काम करती है तो अब हमें पता चल गया कि डीआरडीओ क्या है इसके अंडर काम करती है इसकी स्थापना कब हुई |

तो दोस्तों अब हमें जानने की बारी आती है इसका चेयरमैन कौन है इस का हेड ऑफिस कहां है इसका मोटो क्या है | DRDO (डीआरडीओ) के चेयरमैन डॉ जी सतीश रेड्डी (Dr G Satheesh Reddy) हैं | और इस एजेंसी का हेड ऑफिस नई दिल्ली में स्थापित हैं। और इसका मोटो Strength s Origin is in science यानी वल्स्य मूलम विज्ञानंम यानी शक्ति का आधार विज्ञान ही है |

अभी डीआरडीओ में 3000 employee यानी वर्कर काम करते हैं|  जिनमें से 500 सौ scientist यानी विज्ञानिक काम करते हैं | इस लिए डीआरडीओ भारत की सैन्य शक्ति के लिए बहुत ही खास संस्था है |

DRDO के काम

DRDO डीआरडीओ भारत की रक्षा प्रणालियों डिजाइन और डिप्लोमेट के लिए काम करता है और यह जल थल और नव सेनाओं की जरूरतों के अनुसार वर्ल्ड क्लास वेपन सिस्टम तैयार करता है | अब सवाल आता है कि डीआरडीओ का मुख्य लक्ष्य क्या है तो हम आपको बता दें डीआरडीओ का मुख्य उद्देश्य तीनों रक्षा सेनाओ की आवश्यकता अनुसार उन्हें विश्व स्तर के प्रतिस्पर्धी हथियार और उपकरणों के उत्पादन में देश को आत्मनिर्भर बनाते हैं | इसके साथ साथ डीआरडीओ का मुख्य लक्ष्य सैनिक इंफ्रास्ट्रक्चर को और भी मजबूत बनाने के साथ-साथ सैनिकों की रक्षा सेवाओं से संबंधित तकनीकी समाधान करने तथा सेंसर प्रणाली मजबूत बनाने में एक गुणवत्तापूर्ण श्रम शक्ति को और विकसित करने पर काम करती है

हेलो दोस्तो मैंने डीआरडीओ से कुछ जुड़ी महत्वपूर्ण ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारियों को देने का प्रयास किया है ऐसे ही महत्वपूर्ण जानकारियां देने का प्रयास करता रहूंगाा।

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको डीआरडीओ से कुछ जुड़ी एक महत्वपूर्ण जानकारी देने का प्रयास किया है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि DRDO Kya Hai | DRDO Full From (DRDO ka full form )| DRDO की स्थापना | DRDO का उद्देश्य | DRDO के कार्य,  आदि |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

स्पेशल लिंक

होम जॉब्सऑनलाइन जॉब्समोटिवेशनल
फुल फॉर्मपैसे कमाने वाले एपवर्क फ्रॉम होम एप
बिजनेस आईडियासरकारी योजनायेंघर बैठे ऑनलाइन जॉब

सम्बंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *