BAMS क्या होता है | BAMS Full Form | BAMS Course Fees

नमस्कार दोस्तों ! जैसा की आप जानते है की आजकल के जमाने में कितिनी बीमारियाँ फ़ैल रही है | और हमारे देश में डॉक्टर की भारी कमी है | ऐसे में आयुर्वेदिक क्षेत्र भी उभर का आ रहा है | आज की पोस्ट में हम आपको आयुर्वेदिक डॉक्टर से सम्बंधित एक डिग्री के बारे में बता रहे हैं | अगर कोई भी व्यक्ति आयुर्वेदिक क्षेत्र में डॉक्टर बनना चाहता है तो BAMS का कोर्स करके डॉक्टर बन सकता है। आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि BAMS क्या होता है | BAMS Full Form क्या है | BAMS Course Fees कितनी होती है | BAMS करने के बाद क्या स्कोप है |

BAMS Full Form

BAMS Full Form | BAMS Means in Hindi

दोस्तों BAMS भी अंग्रेजी के 4 अक्षरों से मिलकर बना एक शोर्ट फॉर्म है | जिसमें सबके अलग अलग अर्थ होते हैं | जो इस प्रकार है | 

  • B- BACHELOR , बेच्लर
  • A- AYURVEDIC, आयुर्वेदिक
  • M- MEDICINE, मैडिसिन एण्ड
  • S- SURGERY, सर्जरी

इस प्रकार BAMS Full Form होती है “Bachelor of Ayurvedic Medicine and Surgery” | और BAMS का हिंदी में मतलब होता है “बैचलर ऑफ आयुर्वेद मेडिसिन एंड सर्जरी” |  BAMS भारत में चिकित्सा की एक डिग्री है

BAMS कोर्से ? 

BAMS कोर्स एक अंडर ग्रेएजुएट कोर्स है। जो 5 साल ओर 6 महीने का होता है, इसमे एक साल का इंटेरशीप होता है । ये एक आयुर्वेदिक सरटिफ्यईड कोर्से है। देश में BAMS कोर्स को सेंट्रल काऊंसिल ऑफ़ इंडियन मेडीसिन के द्वारा मान्यता दि जाती है।

BAMS के लिये शिक्षा योग्यता?

BAMS करने के लिए आपको 12वी पास होना अनिवार्य है साथ ही 50% ,या उससे अधिक अंक लाना होगा। और आपके पास 12 मैं बायोलोजि होना आवश्यक है।

मेडिकल कॉलिज –

आप कोई भी मेडिकल कॉलेजों में ऐडमिशन ले सकते हैं । इस कोर्स में आपको आयुर्वेदिक के साथ ही आधुनिक दवाओं की भी शिक्षा दी जाती है । भरतीय शिक्षा प्रणाली में BAMS की डिग्री बहुत मत्वपूर्ण स्थान रखता है । क्युकि एक डॉक्टर को भगवान का दर्जा दिया जाता है ।

आयु सीमा –

BAMS कोर्स करने के लिये न्युनतम 18 वर्ष चाहिए ।

BAMS कोर्स के लिए चयन प्रक्रिया ?

BAMS कोर्स में एडमिशन के लिये एंट्रेंस टेस्ट होता है जो की ऑल इंडिया एंट्रेंस के आलवा राज्य स्तर पर कई प्रवेश परीक्षा आयोजित कराया जाता है।
जैसे की-
• नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ़ आयुर्वेदिक एंट्रेंस एग्ज़ाम।
• उत्तराखंड पीजी मेडिकल एंट्रेंस एग्ज़ाम।
• केरल स्टेट एंट्रेंस एग्ज़ाम।
• कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (सी ई टी), कर्नाटक
• आयुष एंट्रेंस एग्ज़ाम।

BAMS कोर्स की फीस ?

जैसा की आप जानते ही है कि हमारे देश में सरकारी और निजी कॉलेजों में सभी डिग्री की फीस अलग होती है | ऐसे ही BAMS कोर्स की फीस भी कम या जायदा हो सकती है | BAMS कोर्स की फीस लगभग 5 से 6 लाख ली जाती है ।

BAMS कोर्स करने के फायदे ?

BAMS कोर्स करने के बाद आप किसी भी हॉस्पिटल में काम कर सकते हो। जैसे-

• पंचकर्म सेंटर
• हॉस्पिटल
• एड़ुकेशनल इंस्टीटयूट
• मैडिकल टूरिज़्म
• प्राइवेट पृक्टिस
• हर्बल प्रोडक्ट मनुयूफेक्च्र
• हेल्थ सेन्टर

एक डॉक्टर की डिग्री लेने क बाद समाज में भी आपका इज्जत बढ़ती है। और आजकल बिमारियों के बढ़ते कदम को देखते हुए डॉक्टरों की ज्यादा जरुरत बढ़ गयी हैं ।

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको मेडिकल फिल्ड से सम्बंधित एक महत्वपूर्ण जानकारी शेयर की है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि BAMS क्या होता है | BAMS Full Form क्या है | BAMS Course Fees कितनी होती है | BAMS करने के बाद क्या स्कोप है |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *