ISO Full Form | Full Form of ISO

नमस्कार दोस्तों ऑनलाइन जॉब अलर्ट की फुल फॉर्म और हिंदी मीनिंग केटेगरी में आज हम आपके लिए ISO शब्द की जानकारी लेकर आये हैं | वैसे तो यह शब्द बड़ी बड़ी कम्पनियों के काम अधिक आता है | लेकिन आम लोगों को भी इसकी जानकारी होनी चाहिए | क्योंकि इसकी मदद से आप किसी भी संस्था या उद्योग की गुणवत्ता का पता लगा सकते हैं | तो चलिए जानते हैं कि ISO क्या होता है | ISO Full Form in Hindi (ISO Ka Full Form) | ISO की स्थापना | ISO के फायदे  | ISO सर्टिफिकेशन के प्रकार , आदि |

ISO Full Form

ISO फुल फॉर्म | ISO Full Form | ISO Full Form in Hindi | Full Form of ISO

दोस्तों सबसे पहले आपको यह जान लेना जरुरी है कि ISO का मतलब या फुल फॉर्म होता है “International Organization of Standardization” (इंटरनेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ़ स्टैण्डडाईजेशन ) | और हिन्दी में ISO का अर्थ होता है “अंतर्राष्ट्रीय मानकीकरण संगठन” ।

ISO क्या है | What is ISO 

ISO एक स्वंतंत्र संगठन है जों कंपनी और व्यवसायों के द्वारा निर्माण किए गए उत्पादन, सेवा की गुणवत्ता, सुरक्षा और दक्षता के लिये ये संस्था इनको क्वालिटी स्टेंडर्ड सर्टिफिकेशन प्रदान करता है । इससे हम ये समझ सकते है की ये एक तरह का उत्पादन और अनेक चीजो के लिये एक क्वालिटी स्टेंडर्ड सेर्टिफिकेट प्रदान करता है जों संस्था , उद्योग , व्यवसाय को दिया जाता है जिससे ये पता चलता है किसी भी उत्पादन या प्रॉडक्टस की गुणवत्ता उस चीज में कितनी बनी हुई है और वो चीज किसी के उपयोग के लिये फायदेमंद हो सकती है या नही ।
कोई भी कंपनी या उद्योग किसी भी प्रकार का प्रॉडक्ट बनाती है तो उसके मेनेज्मेंट सिस्टम की जाँच करने का काम भी ISO करती है ।

ISO की स्थापना कब और कहाँ हुई थी?

इसकी स्थापना 23 फरवरी 1947 में स्विट्जरलैंड के जेनेवा में हुई थी । ISO के 165 राष्ट्रीय सदस्य है ।  लंदन में इसकी पहली बैठक 14 अक्टूबर 1946 में हुई थी

ISO के फायदे | Benefits of ISO

ISO के कई फायदे है जों नीचे दिए गए है जैसे-

• ये एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त क्वालिटी स्टेंडर्ड सेर्टिफिकेट है ।
• इनका उदेश्य संगठनों को अपने ग्राहकों की बेहतर सेवा प्रदान करना है जिसमे ग्राहकों की संतुष्टि भी हो ।
• सरकारी निविदाओं के लिये बोली लगाने के लिये ISO सर्टिफिकेशन बहुत जरूरी है ।
• ये उत्पादों की गुणवत्ता को भी बताता है
• इसका सर्टिफिकेशन बिजनेस की विश्वनीयता में सुधार करके यह सीधे बिजनेस मार्केटिंग में मदद करता है ।
• ISO का एक अच्छा फायदा ये होता है की इसमें बहुत ही साफ सुथरा व्यवहार होता है और उनका विश्वास बढ़ने में भी मदद मिलता है

ISO सर्टिफिकेशन के प्रकार | Types of ISO Certification

ISO सर्टिफिकेशन के कुछ प्रकार इस तरह से है जैसे-

• ISO 9001 2008- क्वालिटी मेनेज्मेंट।
• ISO 10012 – मेशर मेनेज्मेंट सिस्टम।
• ISO 14001- पर्यावारण मेनेज्मेंट।
• ISO 27001- सूचना सुरक्षा मेनेज्मेंट।
• ISO 22008- खाद्य सुरक्षा मेनेज्मेंट।

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको एक महत्वपूर्ण संस्था से सम्बंधित उपयोगी जानकारी शेयर की है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि ISO क्या होता है | Full Form of ISO | ISO Full Form in Hindi (ISO Ka Full Form) | ISO की स्थापना | ISO के फायदे  | ISO सर्टिफिकेशन के प्रकार , आदि |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

यह भी पढ़ें :

सम्बंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.