RHD क्या है | RHD Full Form | RHD के कारक | RHD Symptoms

नमस्कार दोस्तों | ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फुल फॉर्म पोर्टल में आज हम आपको हृदय (Heart) से सम्बंधित एक बिमारी की जानकारी देने जा रहे हैं | आजकल के भाग दौड़ भरी जिंदगी में बीमारियाँ इतनी बढ़ गयी हैं की इंसान बहुत परेशान हो गया हैं ।
और चाहता हैं की जो बीमारी ने उनको घेरा हुआ हैं उनके बारे में उनको पता रहे और क्या ऐसी चीजें हैं जो हम इन सब से खुद को बचा ले ।पढ़ते हैं ऐसी एक बीमारी के बारे में जिसे हम RHD कहते हैं । आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे की RHD क्या है (RHD meaning) | | RHD Full Form | RHD के कारक क्या हैं | RHD के लक्षण क्या हैं, आदि  | 
 
RHD Full Form

RHD Full Form in Medical | RHD का फुल फॉर्म 

दोस्तों सबसे पहले आपको बता दें की RHD अंग्रेजी के तीन शब्दों से मिलकर बनाया गया है | जीके तीन शब्दों के अर्थ इस प्रकार है – 
 
  • R- Rheumatic
  • H- Heart
  • D- Disease
इस प्रकार RHD Full Form होती है “Rheumatic Heart Disease” | और RHD का हिंदी में मतलैब होता हैरुमेटिक हृदय रोग” ।

RHD क्या होता हैं! RHD Meaning in Hindi

य़े एक सूजन संबंधी अवस्था हैं जिसमें गले में इंफेक्शन होने के कारण होता हैं यह शरीर के टिशू को प्रभवित करता हैं जिसमें लोगों को गठिया होने की शिकायत हो जाती हैं ।

RHD के कारक क्या हैं? Rheumatic Fever Causes

RHD का कारक हैं जो य़े इंफेक्शन को बढ़ता हैं वो हैं स्ट्रेप्टोकॉकस बेक्टीरिया । जब हमारे शरीर में कोई भी जीवाणु घुसता हैं तो हमारे प्रतिरोधक क्षमता उसे शरीर से बाहर निकालने में तेजी से काम करना शुरू कर देता हैं ।जो हमारा हृदय इसमें इसका साथ निभाता हैं और जितना हो सके जल्दी से  जल्दी हृदय पंप करने लग जाता हैं जिससे हमारी हृदय की धमनियों में सूजन आ जाता हैं और य़े बीमारी लग जाती हैं । क्यूंकि य़े एक दिल की बीमारी हैं ।

RHD के लक्षण क्या हैं? RHD Symptoms 

RHD के लक्षण कई सालों तक दिखायी नही देते । 
शुरुवात में हल्के फुल्के लक्षण दिखते  हैं परंतु ज्यादा  गंभीर होने पर इनके लक्षण इस प्रकार हैं | जैसे-
 
• छाती में दर्द होना ।
• बुख़ार आना।
• त्वचा में गाँठ बनना।
• अचानक से दिल की धड़कन तेजी से बढ़  जाना।
• जोड़ो में दर्द होना ।
• बेहोश होना ।
• थकान लगना आदि ।
 

य़े किन अवस्था के लोगों को प्रभावित कर सकता हैं?

य़े देखा गया हैं की आमतौर पर 5 से 15 साल तक के बच्चों को प्रभावित करता हैं | अथवा  यहां भी बताया गया हैं की  3 वर्ष से  पहले और 30 वर्केष बाद लोगों को य़े  बीमारी लग सकती हैं । ट्रीटमेंट के द्वारा हृदय की धमनियों के क्षतिग्रस्त होने से  बचाया जा सकता हैं । 
 
वैसे दोस्तो आजकल देखा जाऐं तों बीमारी ना ही कोई उम्र देखती हैं ना बच्चा, जवान या बूढ़े शरीर को बस हो जाती हैं इसलिए हो सके तों अपनी सुरक्षा आजकल अपने ही हाथों में हैं ।

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको ह्रदय से जुडी एक गंभीर बिमारी की जानकारी शेयर की है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि RHD क्या है (RHD meaning) | | RHD Full Form | RHD के कारक क्या हैं | RHD के लक्षण क्या हैं, आदि 

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *