IPO क्या है | IPO Full From

नमस्कार दोस्तों ! ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फुल फॉर्म सेक्शन में आज हम आपको शेयर मार्किट से जुड़े एक शब्द IPO (आईपीओ) के बारे में शानदार जानकारी उपलब्ध करवा रहे हैं | अगर आप शेयर मार्किट में पहले से ही काम करते हैं तो इसके बारे में जरुर जानते होंगे | लेकिन अगर आपने शेयर बाज़ार में नई शुरुवात की है या करने वाले हैं तो आपको IPO की जानकारी होना बहुत आवश्यक है | इसीलिए आज की पोस्ट आपके बहुत काम आ सकती  है | आज हम आपको बतायंगे कि IPO क्या है | IPO Full Form, IPO Means, IPO की स्थापना, IPO निवेश कैसे करें, IPO की कीमत, IPO के फायदे, आदि |

IPO Full Form

IPO Full From | IPO का फुल फॉर्म

दोस्तों जैसा की आप देख रहे हैं कि IPO शब्द तीन अंग्रेजी के अक्षरों से मिलकर बना एक शब्द है | और इन तीनों अक्षरों के मतलब अलग अलग – होते हैं | जो इस प्रकार है :

  • I- Initial
  • P- Public
  • O- Offering

अब हम इन्हें मिलाकर देखें तो IPO का मतलब या फुल फॉर्म होती है “Initial Public Offering”  (इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग)| और हिंदी भाषा में IPO का अर्थ होता है “ प्रारंभिक सार्वजनिक प्रस्ताव” |

IPO क्या होता है : – IPO Meaning

जब एक कंपनी अपने सामान्य स्टॉक या शेयर को पहली बार जनता के लिए जारी करता है तो उसे IPO कहते हैं | लिमिटेड कंपनियों द्वारा यह IPO इसलिए जारी किया गया है, जिससे वह शेयर बाजार में सूचीबद्ध होने के बाद कंपनी के शेयरों की खरीद शेयर बाजार में हो सकेगी|

IPO की सहायता से कंपनियां सार्वजनिक रूप से शेयर जारी करके इक्विटी पूंजी बढ़ा सकती है या शेयर धारक कंपनी की पूंजी बढ़ाएं बिना शेयर जनता को बेच सकते हैं|

 IPO निवेश कैसे करें: – IPO Investment

अगर आप IPO में इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको डीमेट या Trading खाता खोलना होता है IPO के अंतर्गत निवेश करने के लिए आपके पास बैंक खाता, डिमैट अकाउंट, और पैन नंबर होना बहुत जरूरी है|

 Company IPO क्यों लाती है : –

कंपनी चलाने के लिए पैसों की जरूरत होती है और जब किसी कंपनी को पैसे की जरूरत होती है तो वह IPO लेकर अतिरिक्त पैसे इकट्ठा करती है IPO लाने की वजह से कंपनियां कर्ज से बच जाती है|

 IPO की कीमत : –

IPO की कीमत दो मुख्य तरीकों से तय की जाती है और सभी कंपनियां इन्हीं दोनों तरीकों का पालन करती है|

  1. प्राइस बैंड : – जिन कंपनियों को IPO लाने की अनुमति है वह सभी कंपनियां अपने शेयरों की कीमत तय कर सकती है|
  2. अंतिम मूल्य : – जब बैंड प्राइस तय हो जाता
    है उसके बाद निवेशक किसी भी कीमत पर बोली लगाकर शेयर खरीद सकते हैं|

 IPO के फायदे : –

  1. कंपनी को अतिरिक्त पैसे मिल जाते हैं|
  2. कंपनी की मार्केट में पहचान बढ़ती है|
  3. निवेशक कंपनी के शेर को खरीद और भेज सकते हैं|

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको शेयर बाज़ार में उपयोग होने वाले एक और शब्द IPO की महत्वपूर्ण  जानकारी शेयर की है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि IPO क्या है | IPO Full Form, IPO Means, IPO की स्थापना, IPO निवेश कैसे करें, IPO की कीमत, IPO के फायदे, आदि |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

जय हिन्द जय भारत

स्पेशल लिंक

होम जॉब्सऑनलाइन जॉब्समोटिवेशनल
फुल फॉर्मपैसे कमाने वाले एपवर्क फ्रॉम होम एप
बिजनेस आईडियासरकारी योजनायेंघर बैठे ऑनलाइन जॉब

सम्बंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *