MEA Full Form

नमस्कार दोस्तों ! ओंलिन एजोब अलर्ट के फुल फॉर्म और मीनिंग इन हिंदी कैटेगरी में आपका स्वागत है | आज की पोस्ट म एहम आपके लिए एक और महत्वपूर्ण शब्द “MEA” की जानकारी लेकर आये हैं | जो लोग विदेशों में यात्रायें करते रहते हैं उन्हें इसकी जानाकरी जरुर होगी | लेकिन जो लोग MEA के बारे में नहीं जानते उन्हें आज की पोस्ट ध्यान से पढनी चाहिए | आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि MEA क्या है | MEA Full Form (MEA Ka full form) | MEA Meaning | MEA की स्थापना | MEA का इतिहास, आदि |

MEA Full Form | Full Form of MEA | MEA Ka Full Form


सब्प्से पहले आपको बता दें कि MEA का मतलब या फुल फॉर्म होता है “MINISTRY OF EXTERNAL AFFAIRS” (मिनिस्ट्री ऑफ़ एक्सटर्नल अफेयर) | और हिंदी में MEA का अर्थ होता है “विदेश मंत्रलाय” ।

MEA क्या होता है | MEA Meaning in Hindi | Whats i MEA Means

भारत का विदेश मंत्रालय भारत के विदेशी संबंधों को बनाए रखने वाली एक सरकारी एजेंसी है। इसकी अध्यक्षता विदेश मंत्रालय एक कैबिनेट मंत्री करता है। प्रशासनिक प्रमुख भारत का विदेश सचिव होता है, जों एक भारतीय विदेश सेवा अधिकारी होता है ।

मंत्रालय दूतावासों के माध्यम से भारत सरकार का प्रतिनिधित्व करता है और संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय संगठनों में भारत के प्रतिनिधित्व के लिए भी जिम्मेदार होता है। यह अन्य मंत्रियों और राज्य सरकार को विदेशी सरकारों और संस्थानों पर सलाह भी देता है।

MEA India की स्थापना कब हुआ था ?

MEA को 2 सितंबर 1946 में बनाया गया था ।

MEA का मुख्यालय कहाँ है ? MEA Headquarters in India

मंत्रालय का कार्यालय साउथ ब्लॉक भवन में स्थित है जिसमें प्रधान मंत्री कार्यालय और रक्षा मंत्रालय भी शामिल है। अन्य कार्यालय जवाहरलाल नेहरू भवन, शास्त्री भवन, पटियाला हाउस और आईएसआईएल बिल्डिंग में स्थित हैं।

वर्तमान समय में विदेश मंत्री कौन है?

पहले विदेश मंत्री सुषमा स्वराज थी उनके देहांत के बाद,
30 मई 2019 से सुब्रह़ाण्यम जयशंकर भारत के विदेश मंत्री है ।

MEA का इतिहास क्या है | Hisoty of MEA

स्वंत्रता से पूर्व ब्रिटिश भारतीय सरकार का एक विदेश विभाग था इसका सबसे पहले निर्माण वारेन हेस्टिंग के काल से 1784 में किया गया था ।
मंत्रालय शुरू में विदेश मंत्रालय और राष्ट्रमंडल संबंध मंत्रालय था, जो ब्रिटिश राज से होल्डओवर था। 1948 में इसका नाम बदलकर विदेश मंत्रालय कर दिया गया।प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू ने 1964 में अपनी मृत्यु तक एक अतिरिक्त प्रभार के रूप में पोर्टफोलियो का आयोजन किया और उसके बाद ही कैबिनेट रैंक के साथ एक अलग मंत्री नियुक्त किया गया। मंत्रालय नागा हिल्स, त्युएनसांग क्षेत्र के प्रशासन के लिए जिम्मेदार है।

अटल बिहारी वाजपेयी, पी वी नरसिम्हा राव और आई के गुजराल जैसे कई विदेश मंत्री प्रधानमंत्री बने हैं। वर्तमान विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर हैं, जो 30 मई 2019 को भारतीय जनता पार्टी की सुषमा स्वराज की जगह पद पर नियुक्त हुए है ।

इनका कार्य देश के विदेशों से अच्छे संबंध और अपने देश के नागरिकों की सुरक्षा तथा विदेशों में राष्ट्रीय हितों की रक्षा करना होता है ।

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको अपने देश की एक संस्था MEA के सम्बन्ध में शानदार जानकारी दी है | आज की पोस्ट में हमने जाना कि MEA क्या है | MEA Full Form (MEA Ka full form) | MEA Meaning | MEA की स्थापना | MEA का इतिहास आदि |


अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |


हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.
जय हिन्द जय भारत

सम्बंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *