पल्स ऑक्सीमीटर क्या है | Pulse Oximeter Meaning in Hindi

नमस्कार दोस्तों ! आज की पोस्ट में हम आपको मेडिकल क्षेत्र के एक ऐसे उपकरण के बारे में बता रहे हैं जिसका नाम आपने अब तक जरुर सुन लिया होगा | जिन लोगों ने कोरोना का नाम सुना है उन्होंने Pulse Oximeter (पल्स ऑक्सीमीटर) का नाम भी सुन लिया होगा | लेकिन बहुत सारे लोग पल्स ऑक्सीमीटर के बारे में अधिक नहीं जानते | इसीलिए अगर आप इसके बारे में जानना चाहते हैं तो आज की पोस्ट आपको पूरी पढनी चाहिए | आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि  पल्स ऑक्सीमीटर क्या है | Pulse Oximeter in Hindi | पल्स ऑक्सीमीटर  के कार्य | कितनी आनी चाहिए रीडिंग | ओक्सी मीटर कैसे काम करता हैं | और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है | Pulse Oximeter Price रेंज आदि |

Pulse Oximeter Meaning

पल्स ओक्सीमीटर क्या हैं?

पल्स ओक्सीमीटर एक ऐसा डिजिटल डिवाइस हैं जिससे हमको अपनी शरीर में ऑक्सिजन कि सेंचुरेशन लेवल का पता चलता हैं
य़े एक नॉन इनवेन्सीव डिजिटल डिवाइस हैं इसका मतलब य़े हैं कि य़े डिवाइस शरीर के बाहर से लगा कर काम करता हैं ।

इसका कैसे इस्तेमाल किया जाता हैं?

पल्स ओक्सी मीटर को अपने किसी भी हाथ के उँगली या फिर ईयरलोब(earlobe) में लगा कर चेक कर सकते हैं । अब पल्स ओक्सी मीटर को उँगली और ईयरलोब में ही क्यू लगाते हैं? इसे उँगली और ईयर लोब में लगा कर इसलिए चेक करते हैं क्यूंकि यहाँ पर हाइ ब्लड फ्लो होता हैं बजाए और टिस्सु के ।

पल्स ओक्सी मीटर कैसे काम करता हैं?

पल्स ओक्सी मीटर दिखने में एक छोटी चिमटी कि तरह या फिर जैसे कपड़े टांगने वाली क्लिप होती हैं वैसे दिखता हैं ।
इसको अपनी उँगली में लगाना होता हैं बस ,इसमें आपको ऑक्सिजन और पल्स दोनो दिखायी देगा ।
कि कितना लेवल बना हुआ हैं ।

कितनी आनी चाहिए रीडिंग? Pulse Oximeter Normal Range

Pulse Oximeter एक ऐसा उपकरण हैं जिसमें अधिकतर एकदम सही टेस्ट सामने आता है। घरों और हॉस्पिटल में इस्तेमाल होने वाले इस उपकरण से बहुत हद तक सही रीडिंग प्राप्त होती है।

एक सामान्य स्वास्थ्य व्यक्ति के खून में ऑक्सीजन का लेवल  94% से 100% के बीच होता है | और हार्ट रेट 60 से 100 बीट प्रति मिनट तक होता है । अगर किसी इंसान के खून का ऑक्सीजन का लेवल 94% से कम है, तो उसे तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। और अगर यही ऑक्सीजन लेवल 90% या इससे कम हो जाए तो मरीज को अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत होती है।

अगर कुछ समय के लिए आपके खून में इसका स्तर कम होता है तो वो इतना चिंता का विषय नहीं है, लेकिन लंबे समय के लिए ऐसा रहना हानिकारक हो सकता है।

पल्स ओक्सी मीटर किन लोगो के लिए फायदेमंद हैं?

हॉस्पिटल में जब कोई मरीज अपने को दिखाने जाता हैं तो उसका सबसे पेहले वाइटल साइन चेक होता हैं जिसमे वो मरीज का बीपी, बुख़ार,और पल्स,ओक्सीजन लेवल नापते हैं । वैसे य़े उन मरीजो के लिए ज्यादा फ़ायदेमंद हैं जिनको सांस लेने में दिक्क़त होती हैं जैसे- अस्थमा, सीऑपीडी आदि वाले मरीज

मगर पिछले साल से हो रहे कोरोना महामारी के चलते इसकी जरूरत बढ़ गयी हैं । क्यूंकि कोरोना सीधे इंसान के फेफड़ो में संक्रमित कर रहा हैं जिससे मरीजो को सांस लेने में दिक्क़त हो रही हैं | और इस तरीके से पल्स ओक्सीमीटर कि जरूरत और भी बढ़ गयी हैं ।

पल्स ऑक्सीमीटर प्राइस

दोस्तों Pulse Oximeter वैसे तो 500, 800, 1500, 2000, 2400 रुपये की रेंज में कंपनी की हैसियत के हिसाब से  मिल जाता है | लेकिन कोरोना के मामले बढ़ने के कारण इसकी भी कालाबाजारी शुरू हो गई है | और इस समय

निष्कर्ष

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको एक ऐसे शब्द की जानकारी दी है कोरोना जैसी महामारी में बहुत पोपुलर हो रहा है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि पल्स ऑक्सीमीटर क्या है | Pulse Oximeter in Hindi | पल्स ऑक्सीमीटर  के कार्य | कितनी आनी चाहिए रीडिंग | ओक्सी मीटर कैसे काम करता हैं | और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है | Pulse Oximeter Price रेंज आदि |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *