CIBIL क्या होता है | CIBIL Full Form

नमस्कार दोस्तों ! आज की फुल फॉर्म सेक्शन की पोस्ट में हम आपको एक ऐसे स्कोर के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके कम होने से आपको बहुत नुकसान हो सकता है | और इसको हम CIBIL Score कहते हैं | यह बैंकिंग की फिल्ड में बहुत महत्वपूर्ण स्कोर माना जाता है | आगर आपको इसकी जानकारी नहीं है तो आज आपको इसकी महत्ता पता चल जायगी | आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि CIBIL Kya Hai | CIBIL Full From (CIBIL ka full form )| CIBIL Score कितना होना चाहिए CIBIL Score किस आधार पर बनता है | अपना क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाए, आदि |

CIBIL Full Form

CIBIL Full Form | CIBIL का फुल फॉर्म

आगे बढ़ने से पहले हम आपको बता दें कि CIBIL अंगेजी के 5 शब्दों से मिलकर बनी एक शोर्ट फॉर्म है | इंग्लिश में CIBIL का मतलब या फुल फॉर्म होती है “Credit Information Bureau Of India Limited” | और हिंदी भाषा में CIBIL का अर्थ होता है  “उधार और कर्ज की जानकारी सूचना देने वाली कंपनी” |

CIBIL क्या होता है : – CIBIL Score Meaning

CIBIL 3 डिजिट का एक नंबर होता है जो आपके क्रेडिट हिस्ट्री को बताता है और किसी व्यक्ति लोन लेने की योगिता दर्शाती है यह आपका स्कोर Calculate करता है यह स्कोर आमतौर पर 300 से 900 तक होता है यह
भारतीय रिजर्व बैंक RBI द्वारा लाइसेंस प्राप्त है CIBIL भारत के बैंकिंग सेंटर में महत्वपूर्ण
योगदान निभाते है जिससे बैंकिंग प्रबंधन का काम आसान हो जाता है|

भारत की चार क्रेडिट रिपोर्ट ब्यूरो कंपनी : –

  1. TRANSUNION CIBIL LIMITED – ( ट्रांसयूनियन सिविल लिमिटेड) इसकी स्थापना 2000 में हुई।
  2. EQUIFAX (इक्विफैक्स) इसकी स्थापना 2010 में हुई|
  3. EXPERIAN (एक्सपेरियन) इसकी स्थापना 2006 में हुई|
  4. CRIF HIGHMARK (सी आर आईएफ हाई मार्क) इसकी स्थापना 2010 में हुई|

 CIBIL Score कितना होना चाहिए : –

बैंक में क्रेडिट स्कोर की Range 300 से लेकर 900 तक की होती है अलग-अलग रेंज में इसका महत्व अलग अलग होता है जितना आपका CIBIL Score ज्यादा होगा उतना आपके लिए बेहतर होगा एक अच्छा क्रेडिट स्कोर 750 या उससे अधिक माना जाता है आपके पुराने लोन और क्रेडिट कार्ड के पेमेंट के आधार पर पर इसकी गणना की जाती है|

 CIBIL Score किस आधार पर बनता है: –

आपका ClBIL Score ट्रांसयूनियन सिविल लिमिटेड द्वारा जारी किया जाता है यह कंपनी विभिन्न बैंकों और वित्तीय संस्थाओं से, लोगों की Credit reports मांगती है जिसमें हमारे Loans और Credit Card संबंधी सभी भुगतानओं का लेखा-जोखा होता है
CIBIL Score आपके पहले के Loans और Credit Card के भुगतानो के आधार पर तैयार किया जाता है|

 अपना क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाए : –

  • अपने EMI समय पर दे|
  • अपने क्रेडिट कार्ड के बिल को सामान्य पर भुगतान करें|
  • अपनी क्रेडिट कार्ड लिमिट का उपयोग सही प्रकार से करें|

CIBIL स्कोर कैसे चेक करें | CIBIL Score Check Online

अगर आप अपना CIBIL Score चेक करना चाहते हैं तो आपको परेशां होने की कोई जरुरत नहीं है | क्योंकि आज बहुत सारे बैंक भी अपनी वेबसाइट पर CIBIL Score Check करने की सुविधा दे रहे हैं | जहाँ आप फ्री में अपना CIBIL Score Check देख सकते हैं | जैसे HDFC बैंक का सिबिल स्कोर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

इसके साथ ही बहुत सारी कम्पनियां भी फ्री में CIBIL Score चेक करने का विकल्प अपनी वेबसाइट पर दे रही है | उदाहरण के तौर पर पैसा बाजार (paisabazaar cibil score free) CIBIL Score देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

निष्कर्ष

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको बैंकिंग फिल्ड में इस्तेमाल होने वाले CIBIL नंबर की शानदार जानकारी दी है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि CIBIL Kya Hai | CIBIL Full From (CIBIL ka full form )| CIBIL Score कितना होना चाहिए CIBIL Score किस आधार पर बनता है | अपना क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाए, आदि |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *