CPR क्या होता हैं (CPR Full Form in Hindi)

Whatsapp Channel Join
Telegram Channel Join

नमस्कार दोस्तों ! आज की फुल फॉर्म केटेगरी में हम आपको मेडिकल फिल्ड की एक महत्वपूर्ण तकनीक CPR के सम्बन्ध में बताने जा रहे हैं | वैसे तो इसकी जानकारी डॉक्टर्स और स्वास्थ्य से जुड़े लोगों को होती है | लकिन आम आदमी को भी इनके बारे में जानना चाहिए | क्योंकि कई बार यह जानकारी किसी मरीज की जान बचा सकती है | इसीलिए आजकी पोस्ट आपको ध्यान से पढनी चाहिए | आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे कि CPR क्या है | CPR Full Form (CPR Ka Full Form) | CPR Meaning | CPR क्या होता हैं | CPR कब दिया जाता हैं | CPR कैसे देते हैं | CPR टेस्ट का प्राइस, आदि |

यह भी पढ़ें :

CPR Full Form

CPR Full Form | CPR Meaning in Hindi | CPR Defination in Hindi

दोस्तों सबसे पहले आपको बताते हैं कि CPR का मतलब या फ़ुल फॉर्म होती ही “Cardio Pulmonary Resuscitation” (कार्डियो पल्मोनरी रिससिटैशन) | और इसमें सभी शब्दों का अलग-अलग मीनिंग होता है |  इसे इस प्रकार समझ सकते हैं :

Cardio का मतलब “Heart” (दिल), Pulmonary का मतलब “Related to Lungs” (फेफड़ों से संबंधित) और Resuscitation का मतलब होता है “to revive” (पुनर्जीवित करना) | इस प्रकार CPR को हिंदी में “हृत्फुफ्फुसीय पुनर्जीवन” कहा जाता है |

CPR की परिभाषा | CPR Kya Hai | What is CPR in Hindi | CPR Hindi Meaning

य़े मेडिकल का एक ऐसा तकनीक हैं जिससे एक घायल व्यक्ति या मरीज की जान बचाने के लिए य़े सीपीआर दिया जाता हैं ।

CPR कब दिया जाता हैं | CPR Indicator

इसे कार्डियक अर्र्स्ट और सांस ना लेने पाने जैसी आपातकालीन अवस्था में व्यक्ति की जान बचाने के लिए दिया जाता हैं ।
इसे देने से पहले आपको इसके लिए अच्छे से ट्रैनिंग लेनी पड़ेगी ।

कब पता लगेगा की व्यक्ति को CPR देने की जरूरत हैं?

नीचे दिये गए स्थितियों में CPR देना पड सकता हैं जैसे-

• अगर व्यक्ति बेहोश हो जाऐं और होश लाने की कोशिश करने पर व्यक्ति ना जगे तो तब उस स्तिथि में भी CPR देना चाहिऐ ।
• अगर कोई व्यक्ति नदी में डूब जाऐं उसमें भी CPR देना चाहिऐ ।
• या कोई व्यक्ति धुएं के संपर्क में आ जाऐं और सांस ना आने पर बेहोश हो जाऐं तब भी य़े CPR देना चाहिऐ ।
• यदि किसी को कार्डियक अरेस्ट पढ़ा हो ।

CPR का रेशों | CPR Ratio

CPR का रेशों होता हैं 30:2 , मतलब की 30- कम्प्रेशन, एक मिनट में 100से 120 बार दबाये।
और 2- दो बार सांस देना हैं ।

य़े CPR बड़े व्यक्ति और एक छोटे नवजात शिशु में अलग-अलग तरीके से दिया जाता हैं ।
अगर कोई मरीज या व्यक्ति हॉस्पिटल में अड्मिट हैं और उसको मान लो कार्डियक अरेस्ट आ गया तो उसको CPR भी दें सकते हैं और ज्यादा गंभीर हालत में डीफिब्रिलेटर की मदद से भी होश में लाया जा सकता है ।

बड़ो को CPR कैसे देते हैं | CPR Procedure

• अगर व्यक्ति बेहोश हो गया हैं और आपके बोलने पर भी नही उठ रहा हैं तो उसको समतल जगह पर लिटा दें ।
• फिर उसके कंधे के पास घुटनों के बल बैठ जाऐं ।
• फिर अपनें एक हाथ को उसके छाती के बीच में रख कर फिर दूसरा हाथ उसके ऊपर रखकर और कोहनी को ना मोड़े, सीधा रखे ।
• अपनें शरीर का वजन इस्तेमाल करके व्यक्ति के छाती को कम से कम 2इंच दबाये और छोड़े ।एक मिनट में 100 से 120 बार दबाये।
• जब आपका 30 कम्प्रेशन हो जाऐं तो व्यक्ति का ठोढ़ी को ऊपर करके सांस देने का प्रयास करें ।
• दो तरीके से सांस दिया जाता हैं
• मुँह से मुँह में ।
• और मुँह से नाक में सांस देते हैं ।

CPR टेस्ट का प्राइस | CPR Test Price| CPR Test Rate

CPR टेस्ट का मूल्य हॉस्पिटल और शहरों के हिसाब से अलग अलग होता है | इसका प्राइस रेंज 100 रुपये से लेकर 1000 रूपये तक हो सकती है |

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको स्वास्थ्य से संबधित ABG शोर्ट फॉर्म के सम्बन्ध में शानदार जानकारी दी है | आज की पोस्ट में हमने जाना कि CPR क्या है | CPR Full Form (CPR Ka Full Form)| CPR Meaning | CPR क्या होता हैं | CPR कब दिया जाता हैं | CPR कैसे देते हैं | CPR टेस्ट का प्राइस, आदि |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें. जय हिन्द जय भारत

Whatsapp Channel Join
Telegram Channel Join

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *