MSP क्या है | MSP Full Form

नमस्कार दोस्तों ! ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फुल फॉर्म सेक्शन में आज हम एक और महत्वपूर्ण शब्द MSP के विषय में जानकारी देने जा रहे हैं | आप लोगों ने MSP के बारे में तो जरुर सुना होगा, टीवी में बहस भी देखि होगी | आजकल तो किसानों ने MSP को लेकर एक बहुत बढ़ा आन्दोलन भी चलाया हुआ है | लेकिन लाखों लोगों को इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं है | MSP के बारे में जानने के बाद आपको भी महसूस होगा की इसकी जानकारी होना सबके लिए कितना आवश्यक है | इसीलिए आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताने जा रहे हैं कि MSP क्या है | MSP Full Form | MSP Meaning | MSP की शुरुआत | MSP का निर्धारण | एमएसपी वाली फसलें,  आदि |

MSP Full Form

MSP Full Form | MSP Meaning

तो दोस्तों आपको सबसे पहले बताते हैं कि MSP का मतलब या फुल फॉर्म होता है “Minimum Support Price” (मिनिमम सपोर्ट प्राइस) | और हिंदी में MSP का अर्थ होता है “न्यूनतम समर्थन मूल्य” | MSP सरकार द्वारा किसान की फसल के लिए निर्धारित एक न्यूनतम मूल्य होता है, जो सरकार किसान को उनकी फसल के लिए MSP के रूप में यह गारंटी देती है कि उनकी फसल निर्धारित मूल्य पर खरीदी जाएगी| किसी भी फसल को किसान से MSP से कम price में नहीं खरीदा जा सकता | किसी भी फसल के दामों में गिरावट के समय यह एक समर्थन मूल्य होता है | जिससे किसानों को नुकसान ना हो |

 MSP क्या है | What is MSP in Hindi

वह निर्धारित मूल्य जिस पर Central Government की FCI किसानों से फसल को खरीदती है उसे MSP मूल्य कहते हैं |
इस मूल्य को भारत सरकार तय करती है | ब्रिटिश गवर्नमेंट के दौरान इस तरह की प्रणाली को शुरू किया गया था | यह फसल की लागत को तय करने का एक पैमाना भी होता है|

MSP की शुरुआत : –

सन 1967 में पहली बार गेहूं की MSP घोषित की गई|

 MSP कौन निर्धारित करता है :-

सरकार द्वारा दी जाने वाली MSP CACP सरकारी Agency द्वारा निर्धारित की जाती है|

 MSP का निर्धारण कैसे किया जाता है

  1. बाजार में मूल्य और फसल पर कुल लागत के अनुसार निर्धारित।
  2. देश की जनसंख्या और प्रत्येक परिवार की खपत के अनुसार MSP निर्धारित|
  3. प्रतीक फसल की बुवाई से लेकर कटाई तक होने वाले खर्च पर भी MSP निर्भर करता है|
  4. मांग, आपूर्ति व बाजार की कीमतों का रुझान|
  5. अनाजों के भंडारण, लाने ले जाने पर खर्च, टैक्स, मंडियों का टैक्स, फायदे और नुकसान के अनुसार निर्धारित|

एमएसपी वाली फसलें – MSP for Crops

हमारे देश की सरकार ऐसी फसलों के लिए MSP तय करती है जिसकी ज्यदा जरुरत होती है और हर नागरिक उसका उपयोग करता है | जैसे की रबी और खरीफ की कुछ अनाज वाली फसलें | इन फसलों के लिए एमएसपी की गणना भी हर साल सीजन की फसल आने से पहले तय की जाती है |

अभी हमारे देश में कुल 23 फसलों के लिए सरकार ने MSP यानि कि न्यूनतम समर्थन मूल्य तय किया हुआ है |  इन फसलों में अनाज की 7 फसलें, दलहन की 5, तिलहन की 7 और 4 कमर्शियल फसलों का रेट तय किया गया है | इनमें मुख्य हैं धान, गेहूं, बाजरा, चना, तुअर, मक्का, जौ,  मूंग, उड़द, मसूर, सोयाबीन, सरसों, सूरजमूखी, जूट , गन्ना, कपास, आदि |

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको भारत सरकार द्वारा किसानों को दी जाने वाली एक गारंटी MSP के सम्बन्ध में शानदार जानकारी दी है | आज की पोस्ट में हमने जाना कि MSP क्या है | MSP Full Form | MSP Meaning | MSP की शुरुआत | MSP का निर्धारण | एमएसपी वाली फसलें,  आदि |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *