PICU फुल फॉर्म इन हिंदी | PICU Full Form in Medical

नमस्कार दोस्तों ! ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फुल फॉर्म सेक्शन में आपका स्वागत है | आज की पोस्ट “PICU फुल फॉर्म इन हिंदी | PICU Full Form in Medical” में हम आपको PICU के सम्बन्ध में उपयोगी जानकारी बताने जा रहे हैं | अगर आप कभी हॉस्पिटल गए होंगे तो आपने ICU, MICU आदि के बारे में जरुर सुना और देखा होगा | लेकिन यहाँ एक और विभाग होता जिसमें PICU लिखा होता है | अब आप सोच रहे होंगे PICU क्या है? इसीलिए हमने आज की पोस्ट लिखने का मन बनाया | आज की पोस्ट में हम जानेंगे कि PICU Kya Hota Hai | PICU Full Form in Medical | PICU चाइल्ड कयेर | PICU में किसे रखा जाता हैं | PICU में सुविधाएँ।  | PICU में जाने से पहले क्या ध्यान रखना चाहिए |

PICU Full Form

PICU फुल फॉर्म इन हिंदी | PICU Full Form in Medical | Full Form of PICU

सबसे पहले शुरवात PICU की फुल फॉर्म से करते हैं | जैसा कि आप देख रहे हैं कि PICU शोर्ट फॉर्म अंग्रेजी के 4 शब्दों को मिलकर बनानी गई है,  जिसमें सभी शब्दों के अर्थ अलग अलग होते हैं | जो इस प्रकार हैं :

  • P- PEDIATRIC
  • I- INTENSIVE
  • C-CARE
  • U-UNIT

इस प्रकार चरों शब्दों को मिलकर PICU का मतलब या P I C U Full Form होती है ” Pediatric Intensive Care Unit” | और हिंदी में PICU का मतलब होता है “बाल चिकित्सा गहन इकाई” |

PICU क्या होता हैं |PICU Meaning in Hindi | PICU in Hindi

PICU एक हॉस्पिटल का विभाग या अंग हैं जिसमें जो बच्चें गंभीर रूप से बीमार होते हैं उनको रखा जाता हैं । जिनको सामान्य वार्ड में नही रखा जाता । यहां पर उच्च स्तर के डॉक्टर और नर्सो होती हैं जो इन बच्चों कि देखभाल करती हैं ।

PICU में किसको रखा जाता हैं | P I C U Me Kise Rakha Jata Hai

इसमें सब बच्चों को नही रखा जाता बस उन बच्चों को रखा जाता हैं जो बहुत गंभीर हैं जैसे-

• सांस लेने में दिक्क़त होना ।
• हृदय सम्बंधित रोग जैसे दिल कि धड़कन ज्यादा बढ़ना और घटना ।
• पीलिया
• लगातार बुख़ार का बने रेहना ।
• इंफेक्शन आदि ।

इधर बच्चें उनके कंडीशन के आधार पर रखा जाता हैं और डिसचार्ज किया जाता हैं । ज्यादा बीमार होंग़े तो ज्यादा टाइम तक रख सकते हैं और अगर कम हैं तो 1 या 2 दिन तक ।

PICU चाइल्ड केयर | PICU Child Care

यहां पर जो नर्सें होती हैं वो बहुत एक्सपीरियेन्स वाली होती हैं और बाल चिकित्सक तथा कर्डिओ लोजिस्ट, मस्तिष्क विशेषज्ञ भी आते रहते हैं जैसे बच्चें कि जरूरत होती हैं उस हिसाब से 90% केस में बच्चों को PICU से सीधे घर भेज दिया जाता हैं मगर कुछ बच्चों को फिर नॉर्मल वार्ड में रखा जाता हैं जिनको थोड़े दिन निगरानी में रखते हैं ताकि कोई दिक्क़त हो तो वो पता चल सके। अगर लगता हैं कि अब बच्चा ठीक हैं तो उसको फिर घर भेज दिया जाता हैं । कुछ बच्चों को महीनों लग जाते हैं किसी को 10 से 20 दिन लग जाते हैं ।

PICU में सुविधाएँ | Facilities in P ICU

यहां पर हर तरह कि सुविधाएँ बच्चों को उनके कंडीशन के अनुसार दिया जाता हैं जैसे-

• वेंटिलेटर हैं ।
• C -pap
• ऑक्सिजन आदि होते हैं ।

PICU और कुछ नही बस जो बच्चों को जल्दी और निरंतर देखभाल कि जरूरत होती हैं उन बच्चों को रखा जाता हैं ।

PICU में क्या सावधानी रखनी चाहिए | 

अगर जब भी आप PICU में जाऐं अपनें बच्चों को देखने तब कुछ बातों का खयाल रखे की-

• अपनें जूते या चप्पल बाहर ही निकाले।
• और कोई भी बाहर की चीजें अंदर ना लेकर जाऐं ।
• और बच्चों को हाथा लगाने से पहले और बाद पर हाथों को अच्छे से सैनिटाइज्ड होना चाहिऐ ।
• अगर आपको किसी भी तरह का इंफेक्शन हो तो आपको PICU के अंदर नही जाना चाहिऐ ।

निष्कर्ष :

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको हॉस्पिटल से सम्बंधित एक महत्वपूर्ण जानकारी शेयर की है | आज की पोस्ट में हमने आपको बताया है कि PICU Kya Hota Hai | PICU Full Form in Hindi | PICU Full Form in Medical | PICU चाइल्ड कयेर | PICU में किसे रखा जाता हैं | PICU में सुविधाएँ।  | PICU में जाने से पहले क्या ध्यान रखना चाहिए |

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई होतो इसे अपने मित्रों के साथ जरुर शेयर करें. अगर आपके मन में इस पोस्ट को लेकर कोई सवाल है तो हमें जरुर लिखें,

और सभी फुल फॉर्म एक साथ देखने के लिए यहाँ क्लिक करें |

हम अपने ब्लॉग ऑनलाइन जॉब अलर्ट के फ्री फॉर्मेट पोर्टल में हमेशा कुछ न कुछ उपयोगी जानकारी पोस्ट करते रहते हैं. इसीलिए आप हमारे ब्लॉग को जरुर सब्सक्राइब करें और हमारी मोबाइल एप को डाउनलोड करें.

जय हिन्द जय भारत

यह भी पढ़ें :

सम्बंधित पोस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.