PDF क्या होता है ? PDF Full Form In Hindi – Compress PDF Meaning

PDF Full Form In Hindi

दोस्तों आपने अगर आप कंप्यूटर और इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो अपने PDF का नाम जरुर सुना होगा. आपने हमारे ब्लॉग में भी कई बार PDF फाइल का लिंक खोला होप्गा जिसमे अधिकतर जॉब्स के नोटिफिकेशन या रिजल्ट आदि की फाइल्स होती है. लेकिन बहुत सारे लोग PDF फाइल के बारे में अधिक नहीं जानते. आज की पोस्ट में हम आपको बतायंगे की PDF फाइल क्या होती है? PDF Full Form क्या होती है? PDF meaning in Hindi ? Compress PDF meaning in Hindi? PDF फाइल को कैसे जोड़ा जाता है? PDF फाइल कैसे बनाई जाती है? Pdf Ka Full Form Kya Hota Hai

PDF Kya Hota Hai?  Pdf Full Form Kya Hota Hai?

दोस्तों आपने कंप्यूटर का उपयोग किया है तो आपने कई सारे सॉफ्टवेर का इस्तेमाल भी किया होगा जैसे माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, एक्सेल, पेंट आदि. जब आप इनका उपयोग करते है और कोई नई फाइल बनाकर सेव करते हैं, तो फाइल का एक नाम रखते हैं, नाम रखने के बाद जब आप इस फाइल की प्रोपर्टी देखते हैं तो वर्ड फाइल के नाम के आगे .DOC और पेंट की फाइल के आगे .JPG या .PNG लिखा आता है. इसे फाइल का एक्सटेंशन कहा जाता है. और इसी से ही किसी भी फाइल के फॉर्मेट की पहचान होती है, की फाइल किस सॉफ्टवेर में बनी है. अब जब हम PDF की बात कर रहे हैं तो आप जरुर जानना चाहोगे की Pdf Ka Full Form Kya Hota Hai.

ऐसे ही एक सॉफ्टवेर होता है एक्रोबेट रीडर. जिसकी फाइल का एक्सटेंशन या फोर्मेट होता है PDF. जिसका उपयोग बहुत अधिक किया जाता है. क्योंकि इसकी फाइल का साइज़ भी बहुत कम होता है और हम बहुत सारे पेजों को एक फाइल में लगा सकते हैं. जब हमें किसी पेपर को स्कैन करना होता है तो हम उसे PDF में भी सेव कर सकते हैं. भारत में भी पीडीऍफ़ फाइल का उपयोग बहुत अधिक होने लगा है. लोग गूगल पर बहुत साड़ी पीडीऍफ़ फाइल सर्च करते है. उदाहरण के लिए hanuman chalisa pdf hindi, income certificate form rajasthan 4 page pdf hindi download.    पीडीऍफ़ फाइल की बहुत सारी खूबियाँ होती हैं. जिनकी जानकारी आपको आगे बताई जायगी.

Pdf Ka Full Form – PDF full form in Hindi?

दोस्तों किसी भी फाइल के आगे जो एक्सटेंशन होता है वह शोर्ट फॉर्म में लिखा जाता है. क्योंकि फॉर्मेट का पूरा नाम लिखने पर फाइल का नाम काफी बड़ा हो जाता है. इसीलिए केवल पहचान के लिए फाइल के फॉर्मेट को शोर्ट में लिखते है. ऐसे ही एक्रोबेट रीडर की फाइल के फॉर्मेट को .Pdf लिखा जाता है और Pdf Ka Full Form Hota Hai “Portable Document Format”

PDF Meaning in Hindi – पीडीएफ का मतलब

बहुत सारे लोग अंग्रेजी के शब्दों का हिंदी मीनिंग में जानना चाहते हैं. और ऐसे ही pdf फोर्मेट का भी हिंदी मीनिंग (PDF full form in hindi) जानना भी उनके लिए बहुत जरुरी है. तो इसे आप ऐसे समझ सकते हैं – Pdf Full Form होता है Portable Document Format और Portable document format meaning in Hindi होता है   “वहनीय दस्तावेज़ स्वरूप” । कुछ लोगों को शुद्ध हिंदी की जानकारी नहीं होती इसीलिए आपको बता दूँ की यहाँ पोर्टेबल शब्द का अर्थ है वहनीय या छोटा. जैसे हम portable शब् का उपयोग कई जहग करते हैं जैसे portable फेन मतलब छोटा पंखा. ऐसे ही pdf फाइल का साइज़ छोटा होता है इसीलिए इसके एक्सटेंशन में portable शब्द जोड़ा गया है.

PDF Full Form

PDF कब और क्यों बनाया गया ?

दोस्तों जब हमें किसी चीज की जरुरत होती है तो उसका आविष्कार किया जाता है. ऐसे ही कंप्यूटर के क्षेत्र में एक ऐसे सॉफ्टवेयर की जरुरत महसूस हुई जिसकी सहायता से हम किसी भी दस्तावेज़ की हार्ड कॉपी को इलेक्ट्रॉनिक रूप में बदल सकें. इसीलिए सन 1990 में ADOBE कम्पनी द्वारा PDF फाइल का फाइल फॉर्मेट तैयार किया गया. इसके सॉफ्टवेर का नाम Adobe Reader रखा गया. इसके द्वारा हम डॉक्यूमेंट को पढ़ सकते है और किसी के साथ शेयर भी कर सकते है।

आरंभ में पीडीएफ का ज्यादातर इस्तेमाल कंप्यूटर में ही होता था। क्योंकि स्मार्टफोन बहुत कम उपयोग किये जाते थे. लेकिन आज के समय में स्मार्टफोन में भी खूब होता है। आपने इंटरनेट से कई बार डॉक्यूमेंट डाउनलोड किये होंगे, वह pdf file format में ही डाउनलोड होता है। जैसे जॉब्स के नोटिफिकेशन अधिकतर pdf फोर्मेट में ही होते हैं.

आपको इस बात की भी जानकारी होनी चाहिए की आरम्भ में सन 1993 से लेकर जुलाई 2008 तक PDF फोर्मेट पर केवल ADOBE कंपनी का ही हक़ था, लेकिन 1 जुलाई 2008 को इस कंपनी ने एक एक लाइसेंस जारी किया जिसे Public Patent License कहा जाता है । इस लाइसेंस के तहत PDF को royalty free क्र दिया गया। और इसके बाद पीडीऍफ़ को कोई भी कंपनी या संस्था आसानी से इस्तेमाल कर सकती है।

Pdf File कैसे खुलेगी ?

दोस्तों आज भी बहुत सारे लोगों को कंप्यूटर और फाइल्स के फोर्मेट की अधिक जानकारी नहीं है. और जब कोई पहली बार अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर कोई pdf फाइल डाउनलोड करता है तो उसे खोलने में बहुत परेशानी होती है.
इसीलिए आपको पता होना चाहिए की अगर आप pdf फाइल को पढना चाहते हैं तो आपके कंप्यूटर या स्मार्ट फोन में adobe reader नाम का सॉफ्टवेयर होना बहुत जरुरी है. यह सॉफ्टवेर बिलकुल फ्री में आप डाउनलोड कर सकते हैं ।

अगर आप अपने स्मार्ट फ़ोन में pdf file खोलना चाहते है तो आपको इसकी app को डाउनलोड करना होगा जोकि गूगल के प्ले स्टोर में आसानी से मिल जाती है. आजकल के नए फोन में पहले से ही pdf reader मौजूद होता है.

Pdf Format File को उपयोग करने फायदे  ?

दोस्तों PDF फाइल का उपयोग दिनोदिन बढ़ता ही जा रहा है क्योंकि इस फोर्मेट में फाइल बनाने के बहुत सारे फायदे हैं। इनमें से कुछ फायदे हम आपके लिए लेकर आये है.

PDF फॉर्मेट Portability :

आजकल हम बहुत सारे उपकरण का उपयोग करते हैं, जैसे मोबाइल, कंप्यूटर, टेबलेट, एंड्राइड टीवी आदि. और हम चाहते हैं की हमारी फाइल सभी जगह आसानी से खुल जाए. मतलब हमारी फाइल में पोर्ट होने की सुविधा हो. और यह सुविधा PDF फोर्मेट की फाइल में उपलब्ध है. और पीडीऍफ़ फाइल को इस्तेमाल करने का सबसे बड़ा फायदा इसकी पोर्टेब्लिटी ही है । पीडीऍफ़ फाइल को हम किसी भी उपकरण या गेजेट में ओपन कर सकते हैं जैसे कंप्यूटर, मोबाइल, टेबलेट यहाँ तक की अपने एंड्राइड या एप्पल स्मार्ट टीवी में भी खोला जा सकता है।
अगर आपका कोई दस्तावेज PDF में बना हुआ है तो आपको उसकी हार्ड कोपी रखने की जरुरत नहीं होगी. और कहीं से भी उसका इस्तेमाल कर्र पायंगे. इसीलिए pdf फाइल का उपयोग हर जगह बढ़ता ही जा रहा है. बड़ी बड़ी किताबें आजकल PDF में बनाई जा रही है .

PDF फाइल Security – सुरक्षित फाइल

इन्टरनेट के बढ़ते चलन से डाटा चोरी होने के खतरे भी बड़ते जा रहे हैं. इसीलिए हर कोई चाहता है उसके डॉक्यूमेंट या फाइल ऑनलाइन सुरक्षित रहे. इसीलिए हम ऐसी फाइल बनाना चाहेंगे जो सुरक्षित हो. सुरक्षा की द्रष्टि से PDF फोर्मेट को सबसे उपयोगी मना जाता है.
PDF में बनी फाइल को हर कोई आसानी से EDIT नहीं कर सकता. जैसे आपने कई बार देखा होगा की MS वर्ड में बनी फाइल को आप आसानी से एडिट कर सकते हैं. लेकिन pdf फाइल के लिए आपको मेहनत करनी पड़ती है. इसीलिए इन्टरनेट पर किसी भी फाइल को शेयर करने के लिए सुरक्षित माना जाता है.
पीडीऍफ़ फाइल को सुरक्षा बढाने के लिए हम इसमें पासवर्ड भी लगा सकते हैं. जिससे हर कोई व्यक्ति इसे ना देख सके. आपने आधार कार्ड डाउनलोड करते समय यह विकल्प देखा होगा, आधार कार्ड की फाइल भी pdf फोर्मेट में होती है और उसमें पासवर्ड लगा होता है. क्योंकि आधार कार्ड सबके लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है और उसकी सुरक्षा बहुत जरुरी है इसीलिए सरकार ने उसमें पासवर्ड लगाया है जिससे आपके सिवा और कोई ना देख सके और उसका गलत इस्तेमाल ना हो सके.
pdf फाइल को बिना password के नहीं खोला जा सकता . इसीलिए सुरक्षा इसका एक और बड़ा फायदा है. हम अपने डॉक्यूमेंट pdf फाइल में सुरक्षित रख सकते हैं.

PDF File Merging – पीडीऍफ़ फाइल को कैसे जोड़े ?

दोस्तों PDF फाइल बनाने का एक और फायदा होता है की हम अलग अलग फाइल को एक साथ जोड़कर एक फाइल बना सकते हैं जिससे हमें भेजने में और पढने में आसानी होती है. इस वीडियो में आप पीडीऍफ़ फाइल को मर्ज करना सीख सकते हैं –

PDF File Compression – फाइल साइज़ छोटा करने की सुविधा –

आजकल इन्टरनेट पर इतना सारा काम होने लगा है की हमारा डाटा बहुत जल्दी खत्म हो जाता है. इसीलिए हम हमेशा कम साइज़ वाली फाइल, विडियो, मोबाइल एप डाउनलोड करने की सोचते हैं. इसीलिए PDF फाइल बनाने का यह भी बहुत बड़ा फायदा है की हम इसे कॉम्प्रेस (Compress PDF meaning in Hindi) यानी की फाइल के साइज़ को कम कर सकते हैं और उसकी गुणवत्ता भी कम नहीं होती. फाइल का साइज़ कम होने से हम इसे तेज़ी से शेयर कर सकते है और अगर इसे किसी को डाउनलोड करना है तो वह भी तेजी से इसे डाउनलोड कर लेगा .

PDF फाइल को शेयर करना है आसान – Easy to Share File –

जब से पीडीऍफ़ फाइल का चलन बढ़ा है तब से बहुत सारी समस्या समाप्त हो गई है, क्योंकि इसकी फाइल को हम दुनियां के किसी भी कोने में आसानी से शेयर कर सकते हैं, पहले के जमाने में बड़ी बड़ी कम्पनियाँ अपने जरुरी और लीगल दस्तावेजों को बंद लिफ़ाफ़े में कूरियर करके भेजती थी क्योंकि उन्हें डर रहता था की इन फाइल्स को और कोई ना पढ़ ले. लेकिन जब से pdf फाइल फोर्मेट आया है ऐसी कई सारी समस्याओं का समाधान हो गया है.
pdf फाइल को हम आसानी से बिना किसी डर के कहीं भी शेयर कर सकते है । क्योंकि हम PDF फाइल बनाते वक्त पासवर्ड लगा सकते हैं. जिससे वहीँ व्यक्ति उसे पढ़ पायगा जिसके पास इसका पासवर्ड है.

जैसा बनाओ वैसा पाओ – PDF Kese Bnate H

पीडीऍफ़ फाइल फोर्मेट की एक और खासियत यह है की जब हम इसमें कोई डॉक्यूमेंट बनाते है तो जिस डिजाइन, टेक्स्ट, फॉन्ट में बनाते है यह फाइल उसी स्टाइल में ही सेव होता है । जिससे पढने वालों को कोई परेशानी नहीं होती. लेकिन अन्य फोर्मेट जैसे MS WORD में ऐसा नहीं होता । अगर आपने MS वर्ड 2000 में कोई फाइल बनाई और उसे मेल या अन्य तरीके से शेयर कर दिया तो मेल पाने वाले के पास वर्ड 2000 होगा ही वह उसी डिजायन में खुलेगा.

अगर मेल प्राप्त करने वाले के पास किसी और वर्जन जैसे वर्ड 2010 या 2007 हुआ तो वह फाइल वहां नहीं खुलेगी और अगर खुलती भी है तो जैसे फोर्मेट आपने भेजा होगा वैसे वहां दिखाई नहीं देगा. जैसे उसका फॉण्ट बदल सकता है, साइज़ बदल सकता है, टेबल फोर्मेट बदल सकता है. जिससे पढने वाले को असुविधा हो सकती है.
और अगर आपने अपना बायोडाटा ऐसे फोर्मेट में भेज दिया जो प्राप्त करने वाले के पास ढंग से नहीं खुला तो आपका इम्प्रेशन खराब हो सकता है, और आपको नौकरी मिलने के चांस कम हो सकते हैं .

ऐसे ही अगर आपने अपनी फाइल में हिंदी फॉन्ट भी उपयोग किया है तो इमेल प्राप्त करने वाले को आपका टेक्स्ट बिलकुल भी समझ नहीं आयगा अगर उसके पास हिंदी फॉण्ट नहीं है जो आपने यूज़ किया है.

लेकिन दोस्तों पीडीऍफ़ फाइल में ऐसा नहीं होता है आपने PDF फाइल बनाते समय जिस फॉन्ट का स्टाइल या डिजाइन लगाया होगा वाही उस फाइल में सेव होगा और इमेल में फाइल प्राप्त करने वाले को वैसा ही दिखेगा जैसा आपने भेजा होगा ।

PDF Kese Khole – How to Open PDF File :

पीडीऍफ़ फाइल फोर्मेट का एक और बड़ा फायदा यह है की इसे हम एक्रोबेट रीडर सॉफ्टवेयर ना होने पर भी खोल सकते हैं. और वो भी सभी डिवाइस पर जैसे स्मार्ट फ़ोन, टेबलेट, कंप्यूटर आदि पर आसानी से खोल सकते है।

इसके साथ ही Pdf file फोर्मेट को हम सभी प्लेटफार्म जैसे माइक्रोसॉफ्ट विंडो, मैक ऑपरेटिंग सिस्टम, लिनक्स या एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम में भी खोल सकते है। अगर हमारे सिस्टम में एडोब एक्रोबेट सॉफ्टवेयर नहीं है तो भी इसे किसी भी इन्टरनेट ब्राउज़र जैसे गूगल क्रोम, मोज़िला firefox, इंटरनेट एक्सप्लोरल, ओपेरा मिनी, सफारी या अन्य किसी भी ब्राउज़र में खोल सकते है और पढ़ सकते है और इस फाइल का प्रिंट भी निकाल सकते है।

आजकल सभी इन्टरनेट ब्राउज़र पीडीऍफ़ फाइल को सपोर्ट करते है। इसीलिए हमें pdf फाइल को खोलने या देखने के लिए किसी सॉफ्टवेयर की भी जरुरत नहीं होती है । जिसकी वजह से इन फाइल्स का उपयोग सबसे ज्यादा होने लगा है.

PDF फाइल में लगायें डिजिटल सिग्नेचर Digital Signature in PDF File –

दोस्तों जैसे जैसे दुनियां डिजिटल होती जा रही है वैसे वैसे हमारी जरूरतें भी डिजिटल होती जा रही हैं, जैसे कई बार कंपनियों को अपने फाइल्स में हस्ताक्षर करने पड़ते हैं लेकिन कंप्यूटर पर बनाई गई सभी फाइल में हस्ताक्षर करना आसान नहीं होता इसीलिए डिजिटल सिग्नेचर की आवश्यकता महसूस की गई. जैसे आपने आधार कार्ड में देखा होगा की हरे रंग में एक sign होता है वह डिजिटल सिग्नेचर कहलाता है.

ऐसे ही हम अपनी पीडीऍफ़ में बनाई गई फाइल में डिजिटल सिग्नेचर या हस्ताक्षर लगा सकते हैं. जो की बहुत ही सुरक्षित होते हैं. इससे pdf फाइल फोर्मेट के उपयोगिता और बढ़ जाती है.

PDF फाइल के पेज कैसे सेट करें ?

दोस्तों कई बार हमें अपनी फाइल के पेजों को आगे – पीछे करना होता है. pdf फाइल में इसकी सुविधा दी गई है. हम बहुत ही आसानी से ऑनलाइन टूल की मदद से अपनी pdf फाइल के पेजों को सेट कर सकते हैं या आगे पीछे कर सकते हैं –

इस वीडियो में आपको इसकी पूरी जानकारी बताई गई है :

Pdf File कैसे बनती है ? PDF Kese Banate Hain

दोस्तों pdf फाइल की इतनी सारी खूबियाँ जानने के बाद आप सब जानना चाहते होगे कि आखिर PDF Kese Bnate H (How to make PDf file in Hindi) . तो चलिए जानते हैं हम आसानी से pdf फाइल कैसे बनाये.

pdf file बनाने के बहुत सारे तरीके होते हैं, हम कंप्यूटर पर भी pdf फाइल बना सकते हैं और मोबाइल पर भी. लेकिन दोनों में pdf फाइल बनाने का तरीका अलग – अलग होता है ।

Computer Par Pdf Kaise Banaye ? how to Make PDF file from computer

दोस्तों अगर आप pdf फाइल कंप्यूटर पर बनना चाहते हैं तो उसके लिए कई सारे फ्री सॉफ्टवेयर इन्टरनेट पर उपलब्ध हैं. आप ऑनलाइन भी किसी भी फाइल को pdf फाइल में बदल सकते हैं. लेकिन यहाँ हम आपको बिना किसी सॉफ्टवेयर या ऑनलाइन टूल के pdf फाइल बनाना सिखा रहे हैं.
अगर आप अपने कंप्यूटर पर pdf फाइल बनना चाहते हैं तो आपके पास माइक्रोसॉफ्ट वर्ड का होना बहुत जरुरी है जो कि सभी कंप्यूटर या लैपटॉप पर मिल जाता है. हम अपने बहुत सारे डॉक्यूमेंट जैसे बायोडाटा, लैटर आदि वर्ड में ही बनाते हैं. इसकी फाइल आटोमेटिक .doc फाइल फोर्मेट में बनती है. लेकिन अगर हमें इसे pdf में बदलना है तो हमें सेव करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना होता है.

हम जब कोई फाइल वर्ड में बनाते है और उसे सेव करते है तो हमें सेव की जगह save as पर क्लिक करना होगा और वहां उपलब्ध लिस्ट में से doc की जगह pdf फोर्मेट को सलेक्ट करना होगा. जिससे हमारी फाइल वर्ड फोर्मेट की जगह pdf फोर्मेट में सेव हो जायगी.

लेकिन दोस्तों वर्ड में pdf फाइल बनाने के लिए हमारे पास माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 2010 या इसके बाद का वर्जन होना जरुरी है. अगर हम एमएस वर्ड 2007 में pdf फाइल बनाना चाहते हैं तो हमें इसके लिए एक प्लगइन इनस्टॉल करना होगा ।

Mobile पर PDF कैसे बनाए ? How to Make PDF File on Mobile ?

अगर आप अपने स्मार्ट फोन पर pdf फाइल बनाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको कोई एप इंस्टाल करनी होगी जो pdf फाइल बनाने में सहायक हो. जैसे आजकल लोग WPS Office + PDF एप का इस्तेमाल अधिक करते हैं. इस एप को खोलने के बाद आपको इसमें दिए + साइन पर क्लिक करना होगा और फिर new pdf आप्शन पर क्लिक करना होगा । इसके बाद हमें यहाँ चार विकल्प दिखाई देंगे ।

पहले विकल्प में हमें किसी भी फाइल को pdf में बदलने या कन्वर्ट करने का आप्शन दिखाई देगा. अगर आपके पास कोई ms वर्ड की फाइल है और उसे pdf फाइल में convert या बदलना है तो हमें document to pdf ऑप्शन पर क्लिक करन होगा ।

दूसरे आप्शन में हम किसी भी फोटो फाइल को pdf में बदल सकते हैं. इसके लिए हमें picture to pdf पर क्लिक करना होता है ।

तीसरे आप्शन में हम अपने प्रिंट किये हुए डॉक्यूमेंट या हार्ड कोपी को pdf में बदल सकते हैं. इसके लिए हमें scan document to pdf पर क्लिक करना होता है । और उसे स्कैन करके pdf में सेव करना होगा.

इस एप में एक और विकल्प हमने दिखाई देता है और वह है webpage to pdf . इसक मदद से हम किसी भी वेबसाइट या उसके वेब पेज को pdf में बदल सकते हैं ।

pdf फाइल बनाने के लिए कई सारे प्रिंटर और स्कैनर भी उपयोग में लाये जाते हैं. जब हम किसी पेपर की हार्ड कोपी को स्कैन करते हैं तो उस वक्त हमारे पास विकल्प होता ही की हमें यह pdf में सेव करनी है या किसी अन्य फोर्मेट में.

ऐसे और भी बहुत सारे मोबाइल एप हैं जिनकी मदद से आप अपनी pdf फाइल आसानी से बना सकते हैं, इन्टरनेट पर आपको उसके वीडियो और article भी मिल जायंगे ।

Pdf FIle का Size कम कैसे करे ? how to compress pdf size ?

कई बार हमें बड़ी बड़ी फाइलों को इन्टरनेट द्वारा ईमेल या अन्य किसी माध्यम से शेयर करना होता है, लेकिन फाइल का साइज़ बहुत अधिक होने की वजह से हम उसे आसानी से नहीं भेज पाते और कई बार जहाँ फाइल भेजी जाती है वहां भी बड़ी साइज़ वाली फाइल आसानी से नहीं खुलती. इसके लिए हमें फाइल का साइज़ कम या compress करना पड़ता है. आपको यह भी बता दें कि कॉम्प्रेस का हिंदी में मतलब होता है (Compress PDF meaning in Hindi} किसी भी फाइल का साइज़ कम करना. हम अपनी pdf फाइल के साइज़ को भी कम कर सकते हैं और वह भी बिना उसकी गुणवत्ता कम किये.

pdf file का साइज़ कम करने के भी बहुत सारे विकल्प उपलब्ध हैं. जैसे सॉफ्टवेयर द्वारा, ऑनलाइन टूल्स द्वारा, फोटोशोप द्वारा, मोबाइल एप, स्कैनर आदि .

PDF फाइल साइज़ कम करने का Software

दोस्तों pdf फाइल कम करने के लिए आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप पर PRIMOPDF नाम का सॉफ्टवेयर डाउनलोड कर सकते हैं. और जिस फाइल का साइज़ आपको कम करना है उसे इस सॉफ्टवेर में ओपन करना होगा, आप ड्रैग करके भी अपनी फाइल इसमें ला सकते हैं. इसके बाद आपको इसमें क्रिएट pdf फाइल का विकल्प दिखाई देगा, इसपर क्लिक करने के बाद आपको save करना होता है. जिससे आपकी pdf फाइल का साइज़ कम या compress हो जायगा .
इस काम के लिए आपको अन्य सॉफ्टवेयर भी मिल जायंगे.

PDF फाइल का साइज़ ऑनलाइन कैसे कम करें – Compress pdf online

दोस्तों अगर आप बिना किसी सॉफ्टवेयर के इन्टरनेट की मदद से pdf फाइल का साइज़ कम करना चाहते हैं तो आके लिए यह वेबसाइट ilovepdf.com बहुत काम आ सकती है. इसमें साइज़ कम करने के लिए आपको इस वेबसाइट को खोलना है और compress pdf पर क्लिक करना है. और अब अपनी फाइल को इसके ब्राउज फीचर द्वारा सलेक्ट करना है.
इसके बाद आपको इसमें कई विकल्प दिखाई देंगे – जैसे –

  • Extreme Compression सलेक्ट करने पर आपकी फाइल का साइज़ बहुत कम हो जायगा लेकिन क्वालिटी भी बहुत कम हो जायगी.
  • दूसरे ऑप्शन Recommended Compression में आप अच्छी क्वालिटी में अपनी फाइल का साइज़ कम कर सकते हैं ।
  • इस वेबसाइट में आपको एक और विकल्प मिलता है Low compression का जिसमें फाइल की क्वालिटी पर कोई फर्क नहीं पड़ता और pdf फाइल का साइज भी थोड़ा कम हो जाता है .

जब आप इनमें से कोई ऑप्शन चुन लेते हैं तो उसके बाद आपको compress pdf पर क्लिक करना होता है। और कम्प्रेशन होने के बाद आप अपनी फाइल डाउनलोड कर सकते हैं ।

Photoshop से pdf फाइल कैसे कम करें : compress pdf to chosen size

दोस्तों कई लोग अपने कंप्यूटर पर फोटोशोप जैसे सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं, अगर आपके कंप्यूटर या लैपटॉप पर भी यह सॉफ्टवेयर है तो आप इसका उपयोग पीडीऍफ़ फाइल के साइज़ को कम करने में भी कर सकते हैं । इसके लिए आपको अपनी फाइल को photoshop में खोलना होगा और इमेज वाले ऑप्शन पर क्लिक करके image size पर जाना होगा और file का size कम करना होगा । और इसे पीडीऍफ़ के फोर्मेट में सेव करना होगा ।

साइज़ कम करते समय सावधानियां :

फोटोशोप से pdf फाइल का साइज़ करना सुरक्षित भी माना जाता है . क्योंकि कई बार हमारी फाइल में कुछ महत्वपूर्ण निजी जानकारियाँ जैसे सिग्नेचर, बैंक डिटेल्स आदि होते हैं. और अगर हम अपनी pdf का साइज़ कम करने के लिए ऑनलाइन टूल्स की मदद लेते हैं तो हमारा डाटा चोरी होने का ख़तरा बढ़ जाता है .
इसीलिए ऐसे समय में जब हमारी निजी जानकारियां फाइल में होती हैं तो हमें फोटोशोप जैसे ऑफलाइन सॉफ्टवेयर की सहायता लेनी चाहिए .

PDF से पैसे कैसे कमायें ?

दोस्तों पीडीऍफ़ फाइल के इतने सारे उपयोग  देखने के बाद आपको इसका एक और फायदा बताते हैं की इससे पैसे कैसे कमायें . जैसा क आप जानते है कि pdf फाइल के बारे में बहुत लोग सर्च करते हैं की पीडीऍफ़ फाइल कैसे बनाये, पीडीऍफ़ फाइल कैसे मर्ज करें, पीडीऍफ़ फाइल कैसे Edit करे आदि, अगर आप लोगों की इस समस्या को दूर करने के लिए कोई वेबसाइट, टूल या मोबाइल एप बना लें तो आप इससे बहुत अच्छा  पैसा कमा सकते हैं.  इसके साथ ही अगर आप लोगों को विडियो के माध्यम से भी समझा दें की पीडीऍफ़ फाइल को कैसे कन्वर्ट करे, या दुसरे सवालों के उत्तर अपने वीडियो में दे दें तो भी आपके वीडियो हित हो सकते हैं. और आप उन्हें मोनेटाइज करकर पैसे कमा सकते हैं.

इसे आप एक उदाहरण से समझ सकते हैं. आप जब गूगल पर PDF TO JPG या PDF TO WORD या jpg to pdf या word to pdf या कुछ और सर्च करते है तो सबसे पेहले आपको एक ही WEBISTE नज़र आयगी i love pdf. इस वेबसाइट की इतनी अधिक डिमांड है की करोड़ों में इसके यूजर हैं. भारत में ही नहीं दुनिया भर में i love pdf का उपयोग किया जाता है . गूगल पर इसका नाम लिखकर भी सर्च करते जैसे word to pdf i love pdf, i love pdf to word, i love pdf merge, i love pdf compress आदि.  आप सोच भी नहीं सकते की यह वेबसाइट कितने रुपये कमाती होगी.  अगर आप भी टूल वेबसाइट बना ले या किसी से बनवा ले तो आपकी किस्मत बदल सकती है.

निष्कर्ष PDF फाइल क्या होता है ?

दोस्तों आज की पोस्ट PDF Full Form – PDF meaning full form में हमने पीडीऍफ़ फाइल के बारे में सारी जानकारी देने की कोशिश की है. आज आपने सीखा कि पीडीऍफ़ क्या होता है, PDF meaning in Hindi,  PDF Kese Bnate H, पीडीऍफ़ फाइल मर्ज (PDF Merging) PDF Editing कैसे करें, पीडीऍफ़ फाइल में पासवर्ड केसे लगायें आदि. आपको हमारी दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें. और अगर आप pdf फाइल से सम्बंधित कोई भी सवाल पूछना चाहते हैं तो हमें जरुर लिखें.
हम अपने ब्लॉग पर ऐसे ही काम की जानकारियां लाते रहते हैं इसीलिए आप हमारी वेबसाइट और मोबाइल एप को नोट कर लें .
जय हिन्द